Mon. Dec 16th, 2019

नेक्स्ट फ्यूचर

भविष्य की ओर अग्रसर

ममता की पार्टी के सांसद समर्थकों ने राज्य के बिजलीमंत्री को पीटा

1 min read
कोलकाता, मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की तृणमूल कांग्रेस के नेताओं में छिड़ा संग्राम हदें पार करने लगा है। राज्य के बिजलीमंत्री शोभनदेव चट्टोपाध्याय ने बुधवार सुबह मीडिया से बातचीत में अपनी ही पार्टी की दक्षिण कोलकाता से सांसद माला रॉय के समर्थकों पर मारपीट का आरोप लगाकर राजनीतिक गुंडागर्दी की तस्दीक की है। चट्टोपाध्याय ने दावा किया कि मंगलवार रात प्रतापदित्य रोड के पास एक फिल्म की स्क्रीनिंग के दौरान माला रॉय के समर्थकों ने उन्हें घेरकर मारा-पीटा।
बिजली मंत्री चट्टोपाध्याय ने कहा कि बंगाली फिल्मों को लोकप्रिय बनाने के लिए ममता बनर्जी की पहल (पड़ोस में फिल्में) के तहत ओपन एयर फिल्म शो का आयोजन किया गया था। इसके लिए अभिनेता रितुपर्णा सेनगुप्ता और प्रोसेनजीत चटर्जी की ‘प्राकतन’ ( पूर्व) फिल्म को मंगलवार की स्क्रीनिंग के लिए चुना गया। चट्टोपाध्याय के आदेश पर बेहतर दृश्यता के लिए क्षेत्र में स्ट्रीट लाइट बंद कर दी गईं।
उन्होंने कहा, यहां बड़ी संख्या में माला रॉय के समर्थक थे। प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि बिजली के मुद्दे पर चट्टोपध्याय और रॉय के समर्थकों के बीच बहस शुरू हो गई। इस दौरान चट्टोपाध्याय को प्रताड़ित किया गया।  इसके बाद चट्टोपाध्याय के समर्थकों ने चौराहों को बंद कर दिया। तब पुलिस पहुंची और बीच-बचाव किया। बिजलीमंत्री शोभन देव चट्टोपाध्याय ने कहा है कि वह राशबिहारी एवेन्यू के पास  ओपन एयर शो आयोजित कर रहे थे। बेहतर दृश्यता के लिए स्ट्रीट लाइट को बंद करना जरूरी था।
उन्होंने कहा, हम शाम 6 बजे के आसपास शो शुरू करने वाले थे लेकिन लाइट्स को माला रॉय के समर्थकों ने चालू कर दिया। तब कोलकाता नगर निगम के एक वरिष्ठ अधिकारी को बुलाया। इसके बाद रोशनी बंद कर शो शुरू किया गया। मगर कुछ देर बाद लाइट जला दी गई। इस दौरान उन्हें प्रताड़ित किया। इस वजह से शो बंद करना पड़ा।
निगम की चेयरपर्सन और सांसद माला रॉय ने सभी आरोपों को खारिज कर दिया है। उन्होंने कहा, स्थानीय लोगों ने शिकायत की कि उन्होंने (शोभन) उस क्षेत्र में भी सभी स्ट्रीट लाइट बंद कर दी थीं जहां कोई फिल्म शो नहीं था। इस विवाद पर ममता ने दोनों नेताओं से लिखित में जवाब मांगा है।
Copyright © All rights reserved. | Newsphere by AF themes.