Fri. Nov 15th, 2019

नेक्स्ट फ्यूचर

भविष्य की ओर अग्रसर

दुर्घटना के बाद बैशाखी से उबे ग्रामीण ने लगाई फांसी

कोरबा  सड़क दुर्घटना में अपना एक बांह और पैर के क्षतिग्रस्त होने के बाद बैशाखी के सहारे पर लंबे समय से जी रहे एक ग्रामीण ने जिंदगी से उब कर नाइलोन की रस्सी से अपने घर में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। पुलिस ने मामले में मर्ग कायम कर विवेचना शुरू कर दी है।घटना गुरुवार की देर शाम की है
 पसान थाना अंतर्गत ग्राम भलवाटिकरा निवासी जयपाल सिंह सरौत उम्र 48 पिता स्व.चंदर सिंह सरौता 5 माह पूर्व साइकिल से घर आते वक्त दुर्घटना का शिकार हो गया था। जिससे की उसका एक पैर व बांह पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गई। इस वजह से उसे बैशाखी का सहारा लेना पड़ा था। इस कारण वह काफी परेशान रहा करता था। काफी उपचार कराने के बाद भी उसे बगैर बैशाखी का सहारा नहीं मिलने से वह परेशान रहता था। इसी वजह से वह अपनी जिंदगी से उब गया था। कल शाम 7 बजे वह अपने कमरे में लायलोन की रस्सी से फांसी का फंदा बनाकर झूल गया। सुबह इस घटना की जानकारी उसी के परिवार के चचेरे भाई भयंकर प्रसाद सरोता उम्र 32 पिता इंद्रपाल सरोता को हुई तो उसने पसान थाना पहुंचकर टीआई लीलाधर राठौर को दी। पसान पुलिस ने सूचक द्वारा सूचना दिए जाने पर मर्ग क्रमांक 109/19 एवं जाफ्ता फौजदारी की धारा 174 के तहत मर्ग कायम कर मृतक के शव को पीएम के लिए पंचनामा कार्रवाई के उपरांत स्थानीय पीएचसी के चीरघर भिजवा दिया।
Copyright © All rights reserved. | Newsphere by AF themes.