Fri. Oct 18th, 2019

नेक्स्ट फ्यूचर

भविष्य की ओर अग्रसर

कबीर हत्याकांड की जांच करने लखनऊ से बस्ती पहुंचे एडीजी आशुतोष पांडेय

बस्ती,। कबीर हत्याकांड और उसके बाद शहर में बिगड़ी कानून व्यवस्था की जांच करने बुधवार की रात करीब एक बजे लखनऊ से एडीजी अभियोजन आशुतोष पांडेय बस्ती पहुंचे। उनके साथ डीजीपी ऑफिस में तैनात एसपी क्राइम एस आनन्द भी आए हैं।
भाजपा सांसद हरीश हरीश द्विवेदी और विधायकों ने गुरुवार सुबह नौ बजे एडीजी से मुलाकात कर हत्याकांड में आरोपितों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की। एडीजी से मिलने आईजी रेंज आशुतोष कुमार और एसपी पंकज कुमार पहुंचे। दोनों ने पूरे घटनाक्रम की जानकारी दी। कुछ देर बाद सर्किट हाउस पर कमिश्नर अनिल सागर और डीएम माला श्रीवास्तव भी पहुंची। करीब एक घंटे तक बातचीत के बाद एडीजी आशुतोष पांडेय ने पुलिस चौकी रोडवेज और रोडवेज परिसर, अस्पताल चौराहा के साथ ही रंजीत चौराहा स्थित घटनास्थल का मुआयना किया। जहां बुधवार की सुबह छात्रसंघ अध्यक्ष को गोली मारी गई थी। वहीं, दूसरी तरफ चर्चा है कि एडीजी द्वारा जांच रिपोर्ट भेजे जाने के बाद किसी भी समय मौजूदा एसपी पंकज कुमार और डीएम माला श्रीवास्तव को हटाया जा सकता है। उनके साथ लखनऊ से आए एसपी ए आनन्द के नवागत एसपी बस्ती बनने की चर्चा जोरों पर है।
 
ये था मामला
बस्ती में बीजेपी नेता और पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष आदित्य नारायण तिवारी उर्फ कबीर की बुधवार को दिनदहाड़े गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। जिसके बाद उनके समर्थकों ने शहर में जमकर बवाल काटा। उपद्रवियों ने रोडवेज की कई बसों में तोड़फोड़ की, पुलिस के वाहनों को आग के हवाले कर दिया। वहीं, मामले में लापरवाही बरतने के चलते बस्ती के एसपी ने दो एसओ को लाइन हाजिर कर दिया है। साथ ही चार पुलिस अधिकारियों की पोस्टिंग में भी फेरबदल की गई है।
Copyright © All rights reserved. | Newsphere by AF themes.