Mon. Oct 14th, 2019

नेक्स्ट फ्यूचर

भविष्य की ओर अग्रसर

हमीरपुरः अनूठी परम्परा में दीपावली को रावण का पुतला फूंककर होगा दशहरा

-101 साल पुरानी प्रथा की रामलीला का भी 14 से होगा आगाज
 
 
हमीरपुर, ।  हमीरपुर जिले में एक बड़े इलाके में दीपावली के दिन रावण का पुतला जलाकर दशहरा मनाये जाने की परम्परा आज भी कायम हैं। एक सौ साल पुरानी एतिहासिक परम्परा को लेकर रामलीला का आगाज भी 14 अक्टूबर से होगा। इसके लिये तैयारियों को अंतिम रूप दे दिया गया हैं। 
 
हमीरपुर जिला मुख्यालय से करीब 85 किमी दूर राठ नगर में दशहरे के दिन रावण का पुतला जलाने की परम्परा नहीं हैं। इस इलाके में तो दीपावली के दिन ही रावण के पुतले को फूं​​ककर दशहरा मनाने की परम्परा हैं। यहां दशहरे के पांच दिन बाद रामलीला का आयोजन शुरू होता हैं जो दीपावली के दिन रावण का पुतला दहन के बाद सम्पन्न होती हैं। राठ के बुजुर्गों ने बताया कि दीपावली के दिन दशहरा मनाने और रावण पुतला दहन करने की परम्परा सौ सालों से चली आ रही है। रामलीला कमेटी के सदस्य हरीमोहन चंदसौरियां ने गुरुवार को बताया कि अबकी बार रामलीला कमेटी के अध्यक्ष एवं पूर्व सांसद राजनारायण बुधौलिया ने 18 लाख रुपये का प्रावधान किया है। इस धनराशि से रामलीला का आयोजन व मेले की व्यवस्था के साथ ही रावण का अद्भुत पुतला भी तैयार किया जायेगा।
 
101 साल पहले पड़ी थी अनोखी रामलीला का परम्परा
राठ रामलीला कमेटी के आजीवन सदस्य हरीमोहन चंदसौरिया ने बताया कि सौ वर्ष पहले जब रामलीला महोत्सव की शुरूआत हुयी थी तब उस समय रामलीला स्थान पर बरसात का पानी भरा रहता था। बरसात का पानी सूखने में दशहरा पर्व निकल जाता था। इसीलिये दशहरा पर्व दीपावली के दिन मनाने की परम्परा पड़ी। 
 
रामलीला मैदान में खड़ा है रावण के लोहे का फ्रेम 
समाजसेवी नीलू महाराज ने बताया कि कई साल पहले कमेटी ने लोहे का फ्रेम तैयार कराया था । इसी फ्रेम में मैटेरियल लगाकर रावण का रूप दिया जाता है। आतिशबाजी के पटाखे भी इसमें भरे जाते है। 
 
शिव बरात निकालने के साथ ही शुरू होगी रामलीला
हरिमोहन चंदसौरिया ने बताया कि हर साल की तरह इस बार भी रामलीला मंचन के लिये वृन्दावन से कलाकारों को बुलवाया गया है। रामलीला शुरू होने से पहले शिव बारात गाजेबाजे के साथ निकाली जायेगी। शिव बारात की रामलीला मैदान से उठेगी जो खुशीपुरा, भटियाना, चौबट्टा, मुगलपुरा, कोट बाजार, स्टेट बैंक तिराहा से होते हुये वापस रामलीला मैदान पहुंचेगी। 
Copyright © All rights reserved. | Newsphere by AF themes.