Sat. Jan 25th, 2020

नेक्स्ट फ्यूचर

भविष्य की ओर अग्रसर

गोंडा में 9700 कुंतल धान बीज वितरण का लक्ष्य

गोंडा । जिले के किसानों को अनुदान पर बीज उपलब्ध कराने के लिए कृषि विभाग द्वारा खरीफ सीजन की मुख्य फसल धान का लक्ष्य इस बार 9700 कुंतल रखा गया है। किसानों को धान के बीज के खरीद पर 50 प्रतिशत का अनुदान डीबीटी योजना के माध्यम से सीधे उनके खाते में दिया जाएगा। खरीफ की प्रमुख फसलों में धान, उड़द, मक्का, अरहर व तिल की बुवाई खरीफ के सीजन में की जाती है।
आंकड़ों पर नजर डालें तो इस बार लगभग ढाई लाख हेक्टेयर में खरीफ की खेती की जानी है। इसके लिए जिले के 16 विकासखंडों पर कृषि विभाग द्वारा बीज उपलब्ध करा दिय गया है। किसी भी भंडार से बीज खरीद पर किसानों को बीज वितरण केंद्र से रसीद मिलेगी। वह रसीद कृषि विभाग में लगाकर किसानों को उनके खाते में सीधे अनुदान की राशि भेज दी जाएगी। जिन किसानों द्वारा कृषि विभाग में पहले पंजीकरण करा लिया गया है। वह अपना पंजीकरण नंबर बताकर बीज खरीद सकते हैं। इसके लिए उन्हें रसीद भी नहीं देना पड़ेगा।
कृषि विभाग के आंकड़ों के मुताबिक इस योजना के तहत 25 से 30 हजार किसान लाभान्वित होते हैं। जबकि जिले में किसानों की संख्या पांच लाख के आस पास है। ऐसे में कृषि विभाग महज कुछ किसानों को ही लाभन्वित कर सकेगा। जागरूकता के अभाव में अधिकांश किसान कृषि विभाग के अनुदान का लाभ नहीं ले पाते हैं।
इस संबंध में जिला कृषि अधिकारी जगदीश प्रसाद यादव ने बताया कि खरीफ की मुख्य फसलों में धान, उड़द, मक्का मूंग सबका अलग अलग लक्ष्य निर्धारित किया गया है। अगर हम पूरे जिले के लक्ष्य की बात करें तो इस बार धान के बीज का लक्ष्य 9700 कुन्तल रखा गया है। लक्ष्य के सापेक्ष 95 प्रतिशत बीज उपलब्ध हो गया है। कृषि अधिकारी के मुताबिक 25 से 30 हजार किसान यहां से बीज खरीद सकते हैं।

 

Copyright © All rights reserved. | Newsphere by AF themes.